पाकिस्तानियों की देशभक्ति व् बॉलीवुड का उदारतावादी रवैय्या !

0
112

army-and-special-operation-group-of-jk-personnel-2-1

18 सितम्बर 2016 को उरी , जम्मू&कश्मीर में हुए आतंकी हमले में मारे गए देश के जवानो के घरो में मातम का माहौल थमने का नाम ही नहीं ले रहा था, देश की रक्षा में लगे जवानो को सोते हुए मारकर पाकिस्तानीयों ने यद्ध के नियम का उलंघन तो किया ही साथ – साथ हमेशा की तरह पीठ में खंजर वाला रवैय्या अपनाते हुए उनकी तरफ से किये गए हमलो से नकार गए , हालांकि आतंकवादियों के हथियार व् अन्य वस्तुओ ने फिर पाकिस्तान को ओंधे मुह फेंक दिया , व् दुनिया के सामने एक बार फिर से नंगा कर दिया , खैर पाकिस्तान का रविय्या जो था वो ही वर्तमान में है और विश्वास के साथ कह सकता हूँ भविष्य में भी यही रहेगा , अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हिम्मत चाहिए आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए –

indian-army-jawans_1433683738

 

इस कायरतापूर्ण घटना के बाद पूरे देश का खून उबाल मार रहा था , देश बदला चाहता था , मोदी को प्रधानमंत्री बनाने वाला देश , मोदी को जवाबी कार्यवाही जल्द न करने के लिए कोस रहा था , पूरे देश में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये जा रहे थे , पूरा देश पाकिस्तान की बर्बादी चाहता था , लग रहा था देश एक है , बॉलीवुड की प्रोडूसरस एसोसिएशन ने फैसला लिया की जब तक बॉलीवुड में काम कर रहे / रोजगार कमा रहे पाकिस्तानी अभिनेता व् अभिनेत्री आतंकवादियों द्वारा किये गए हमलो की निंदा बिना पाकिस्तान का नाम लिए नही की जायेगी तब तक बॉलीवुड की प्रोडूसरस एसोसिएशन उन्हें काम नहीं देगी , पाकिस्तान के तमाम अभिनेता अभिनेत्रियों ने भारत और बॉलीवुड को लात मारकर अपने मुल्क , पकिस्तान जाना पसंद किया बजाय निंदा करने के पाकिस्तानी कलाकारों को टारगेट करने का मकसद केवल इतना सा था की वे पाकिस्तान द्वारा किये गए आतंकी हमले की निंदा करे , भारत में रह रहे , पैसा कमा रहे क्या इतना नही कर सकते थे ये लोग ? नही क्यूँ करते देशभक्त जो ठहरे !

q

परन्तु भारत में बसे , खा-पी रहे बॉलीवुड के तथाकथित इंटेलेक्चुअल लोगो द्वारा मुह से फिर दीर्ग्शंकित विचारों का आवागमन भारतीय मीडिया द्वारा हुआ , ये बुद्धिजीवी लोगो का सीधा इशारा था बॉलीवुड में काम कर रहे पाकिस्तानी कलाकारों का हुक्का-पानी बंद किये जाने पर , सबसे पहले भाइयो के भाई सलमान खान भाई का बयां आया की ये लोग कलाकार हैं आतंकवादी नही है , चलो सही है मान ली आपकी बात पर इन ही कलाकारों को आतंकवादियों का खंडन करने में क्या दिक्कत है ? बिना पाकिस्तान का नाम लिए भी ? दुसरे नंबर पर आते हैं श्री महेश भट्ट जी इनके क्या कहने इनका बस चलता ये इन आतंकवादी हमलो का इलज़ाम भी आरएसएस पर लगा देते , ये ना हो सका तो बोले पाकिस्तान कलाकारों का खंडन नही किया जाना चाहिए , इनका कहना था “ Dear leaders, Do not let the actions of few violent men write the future of many people, like me who want peace.# Kill Terrorists Not Talks#ProfileForPeace , इनका भी लोगो ने खूब मखौल उड़ाया , तीसरे नंबर आते हैं ओम पूरी जी जिन्होंने सीधा-२ कह दिया की की किसने खा था आर्मी में भारती होने को ? मरने को ? अच्छा जी आपको किसने कहा था मुह से दीर्घशंका करने को ? किसने कहा था इंडिया में रहकर इंडिया के जवानो के खिलाफ बोलने को ? किसने कहा था नेशनल टीवी पर जवानो का अपमान करने को ? किस ने कहा था , शहीद हुए जवान के घरवालो के दिलों को छलनी करने को ? किसने कहा था पूरे देश की रक्षा करने वाले जवान को गाली देने को ? है जवाब ?

b

इन अभिनेताओं के साथ -२ कई पत्रकारों ने भी बिलकुल यही रवैय्या अपनाया , जाहिर है वर्तमान सरकार इन लोगो की बात पर गौर नही करेगी और अपना काम बखूबी करेगी , पाकिस्तानी आतंकवादी कैंपो पर सर्जिकल स्ट्राइक कर भारतीय सरकार ने दिखा दिया है की अब भारत चुप नही बैठेगा , बॉलीवुड में एक दूसरा वर्ग और भी एक्सिस्ट करता है जिसमे नाना पाटेकर , अजय देवगन ,अक्षय कुमार जैसे रियल लाइफ हीरो हैं जिन्हें किसी भी चीज़ से पहले देश की परवाह है बाकी ओमपुरी , सलमान खान , आमिर खान , शाहरुख़ खान , महेश भट्ट व् अन्य बॉलीवुड के तथाकथित विशेषज्ञों को सुलटने के लिए भारतीय जनता जागरूक हो चुकी है , जैसे को तैसा ही मांग थी , अब दिया जा रहा है , आगे भी दिया जायेगा !

भारत माता की जय !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here